मौसम दिल्ली में
न्यू साउथ अफ्रीका कोविड वेरिएंट: ओमिक्रॉन 32 म्यूटेंट से मिलकर बना है, B.1.1.529 वेरिएंट क्यों है खतरनाक? - NGX NEWS

न्यू साउथ अफ्रीका कोविड वेरिएंट: ओमिक्रॉन 32 म्यूटेंट से मिलकर बना है, B.1.1.529 वेरिएंट क्यों है खतरनाक?

बहजोई(एनजीएक्स) कोरोना का नया खतरनाक B.1.1.529 ओमिक्रॉन वैरिएंट,इससे हमारे वैज्ञानिक विशेषज्ञ भी चिंतित है,
हमारे भारत में कोरोना के 100 करोड़ लोगों के टीकाकरण के बाद लोगों ने भले ही लापरवाही बरतना शुरू कर दी हो,लेकिन दुनियाभर के वैज्ञानिकों के साथ-साथ कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने विशेषज्ञों की चिंता बढ़ा दी है। इस वेरिएंट को B.1.1.529 नाम दिया गया है। आपको बताते चलें कि इस नए स्ट्रेन के बारे में जानना जरूरी है कि ये कितना खतरनाक है।
कोरोना वायरस को हमारे बीच 2019 के अंत में आया था इसे अब लगभग 2 साल से ज्यादा हो चुके हैं। इस वायरस की सबसे खतरनाक बात यह रही है कि यह खुद को ऑटो इम्यून सिस्टम से बचाने के लिए अपना रूप बदल लेता है और म्यूटेंट बना लेता है । ऐसा ही कुछ एक बार फिर देखने को मिल रहा है। आपको बता दें कि कोरोना के इस स्ट्रेन को B.1.1.529 नाम दिया गया है। इसका पहला मामला बोत्सवाना से दर्ज किया गया था और अब तक इसके कुल 10 मामले ही सामने आए हैं।
यह स्ट्रेन अब तक का सबसे ज्यादा खतरनाक स्ट्रेन बताया जा रहा है। ऐसा इसलिए कहा गया है कि यह लगभग 32 म्यूटेंट से मिलकर बना है, यही बात इसे बाकी स्ट्रेन से खतरनाक बना रही है। इस बात को लेकर लंदन के इंपीरियल कॉलेज के वायरोलॉजिस्ट और डॉक्टर टोम पीकॉक ने ट्वीट भी किया है। इसके अलावा डॉक्टर टोम ने एक साइट पर इससे संबंधित जानकारी भी साझा की है। डॉक्टर टोम समेत दुनियाभर के विशेषज्ञ इस स्ट्रेन को लेकर बेहद चिंतित नजर आ रहे हैं। आइए कुछ जानकारी करते हैं कोरोना के इस स्ट्रेन के बारे में इस पर यूसीएल जेनेटिक इंस्टीट्यूट के निदेशक प्रोफेसर फ्रेंकोइस ब्लौक्स का कहना है कि, इतने सारे म्यूटेंट का एक ही वेरिएंट में पाया जाना, इस बात की ओर इशारा करता है, कि यह कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों के लिए एक बड़ा खतरा हो सकता है, जैसे एचआईवी और एड्स के मरीज। इसके अलावा प्रोफेसर ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि डेल्टा और अल्फा वैरिएंट की तरह ही वैक्सीन इस वैरिएंट को भी पहचान ले और इसके प्रभाव को कम कर दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: All Rights Reserved and Copyright By NGX Media !!