मौसम दिल्ली में
इलाज के बहाने तांत्रिक ने महिला को बहलाकर पांच बेटियां पास रखीं - NGX NEWS

इलाज के बहाने तांत्रिक ने महिला को बहलाकर पांच बेटियां पास रखीं

सिर में चोट लगने से घायल हुई महिला का तंत्र-मंत्र से इलाज करने का झांसा देकर एक तांत्रिक संभल के परिवार के संपर्क में आ गया। तांत्रिक ने महिला समेत उसकी चार बेटियों को बहलाकर अपने पास रख लिया है। इधर, महिला का पति तहरीर लेकर अफसरों के यहां चक्कर लगा रहा है।

बदायूं (एनजीएक्स)। सिर में चोट लगने से घायल हुई महिला का तंत्र-मंत्र से इलाज करने का झांसा देकर एक तांत्रिक संभल के परिवार के संपर्क में आ गया। तांत्रिक ने महिला समेत उसकी चार बेटियों को बहलाकर अपने पास रख लिया है। इधर, महिला का पति तहरीर लेकर अफसरों के यहां चक्कर लगा रहा है। वजह है कि बिसौली कोतवाली पुलिस ने उसकी एक भी बात सुनकर नहीं दी है। जबकि पुलिस अब घटनाक्रम से अनभिज्ञता जाहिर कर रही है।
संभल जिले के कोट इलाके में रहने वाले एक युवक ने तकरीबन 12 साल पहले विधवा महिला से शादी की थी। महिला के उस वक्त दो बेटियां थीं। शादी के बाद इस युवक से भी दो बेटियां पैदा हुईं। पिछले दिनों महिला के सिर में चोट लगी थी। डॉक्टर से इलाज कराया जा रहा था लेकिन फायदा धीरे-धीरे हो रहा था। इसी दौरान एक परिचित की मध्यस्थता से बिसौली कोतवाली क्षेत्र के नागपुर-नूरपुर गांव का तांत्रिक बाबा इस परिवार के संपर्क में आया। बाबा ने तंत्र मंत्र के जरिए इलाज शुरू किया और इसी दौरान महिला समेत बेटियों को बहला लिया। बाद में इनको अपने साथ रख लिया है। पति ने विरोध भी किया लेकिन तांत्रिक समेत उसके चेलों ने उसे वहां से भगा दिया। पति का आरोप है कि तंत्र विद्या के जरिए उसने पत्नी-बेटियों को वश में कर लिया है। उसने पुलिस को तहरीर भी दी लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। कोतवाल ऋषिपाल सिंह ने बताया कि फिलहाल मामला संज्ञान में नहीं आया है। वादी हमें मिला ही नहीं है। तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
………………………………

गलवाकर बेचा गया था दंपति के घर से लूटा गया सोना
बदायूं (एनजीएक्स)। गुप्ता दंपति के घर से लूटा गया सोना पहले गलवाया गया था, इसके बाद शहर के एक सर्राफा कारोबारी के हाथ बेचा गया। सीबीआई की जांच में इस तथ्य की पुष्टि हुई है। सीबीआई ने उस सर्राफ का बयान भी दर्ज किया है और इसी आधार पर मरहूम आरोपी उदय प्रकाश के भाई संजय को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
सीबीआई का दावा है कि शहर के मोहल्ला कटरा ब्राह्मपुर निवासी विजेंद्र गुप्ता और उनकी पत्नी शन्नो की हत्या को पड़ोसी उदय प्रकाश समेत उसके भाई योगेश ने मिलकर अंजाम दिया था। उदय की मौत हो चुकी है, जबकि संजय पर सीबीआई को शक था। इसी आधार पर सीबीआई ने कई पहलुओं पर जांच की और कई लोगों के बयान दर्ज किए। इसके बाद योगेश को पूछताछ के लिए बुलाया और लखनऊ आफिस से उसकी गुरुवार को गिरफ्तारी दिखा दी गई। कुल मिलाकर सीबीआई ने स्पष्ट दावा किया कि संजय भी इस कांड में शामिल था। बताया जाता है कि जब तक पुलिस ने इस मामले की तफ्तीश की, दोनों भाई लूटा गया सोना रोके रहे और केवल कैश के बलबूते अपने खर्चे चलाते रहे। जैसे ही मामला सीबीआई को ट्रांसफर हुआ तो दोनों ने शहर निवासी एक सर्राफ के यहां माल गलवाया। जबकि बाद में उसे बेच दिया। सीबीआई ने संबंधित सर्राफ को भी तलाशा और उसका बयान दर्ज कर यह भी पता लगाया कि किस तारीख में सोना गलने को दिया और किस तारीख में कैश ले गए। इसके बाद दोनों के खातों के स्टेटमेंट निकलवाए गए। इसमें पता लगा कि खातों में लाखों की रकम थी और कार्ड व कैश के जरिये खर्च हो रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: All Rights Reserved and Copyright By NGX Media !!